• Breaking News

    Gharelu Upchar: सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार कैसे करे रसोई घर में उपलब्ध नुस्खों से


    सर्दी का मौसम आने पर अक्सर लोग सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार ढूँढने लगते हैं और इसकी सबसे बड़ी वजह सर्दियों के आते ही जुकाम से जैसे कोई पुराना याराना हो अपने दरवाजे पे दस्तक दे ही देता है। अगर शुरुआत में ही ध्यान दे दिया जाएं तो जुकाम से बचाव संभव है।

    सर्दियों का मौसम आते ही अक्सर लोग सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार खोजना शुरू कर देते है क्योंकि सर्दियों के आते ही जुकाम अपना पुराना दोस्त सा बन जाता है और अगर सावधानी नहीं बरती जाए तो पुरी सर्दियां में ठीक भी ही नही होता और थोड़े-थोड़े दिनों बाद परेशान करना शुरू कर देता है। सर्दियों का मौसम आते ही अगर हम शुरुआत में ही अपने पर ध्यान दे तो जुकाम से बचाव संभव और आसान है।

    जुकाम का मुख्य कारण मौसम में बदलाव के कारण होता है। सर्दी का मौसम आते ही कई प्रकार की बीमारियां व्यक्ति को अपना शिकार बनाना शुरू कर देती है।  इनमें प्रमुख रूप से जुकाम और खांसी सबसे सामान्य होने वाली बीमारी हैं। इसलिए आपको सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार आपको जानना और उसका उपचार करना आना चाहिए। माना की यह एक साधारण सी बीमारी है लेकिन जुकाम आपको बहुत परेशान कर सकता है। और इसके इलाज के लिए आपको कहीं जाने की ज़रुरत नहीं है।

    आज हम आपको सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार बताएँगे। सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार और उपचार की सामग्री आपको आसानी से उपलब्धी हो जाती है और इनका सेवन करने से कोई भी साइड इफेक्ट भी नही होता। सामान्यत होने वाले जुकाम को हम नैसोफेरिंजाइटिस, राइनोफेरिंजाइटिस, अत्यधिक नज़ला नाम से भी जानते है। यह संकर्मण सामान्य से फैलने वाला होता है जो हर आयु वर्ग के लोगो में आसानी से देखा जा सकता है। यह संकर्मण अपने आस-पास के वातावरण के दुषित होने की वजह से भी हो सकता है। इसके बचाव के लिए बताये गए सर्दी जुकाम के घरेलू उपचार को उपयोग में ला सकते हैं। 

    सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार: 

    * हल्दी का उपयोग (Use of Turmeric):     
    हर घर की रसोई मे मिलने वाली हल्दी आपको सर्दी में होने वाली जुकाम और खांसी के बचाव के लिए हल्दी बहुत ही उपयोगी उपाय है। इसका सेवन करने से बंद नाक और गले की खराश जैसी परेशानीयों को आसानी से दूर किया जा सकता है। जुकाम और खांसी होने पर अगर आप दो चमच हल्दी पावडर को एक गिलास गरम दूध में मिलकार पीने से काफी फायदा शरीर को होता है। हल्दी को दूध में मिलाने से पहले दूध को हल्का सेवन करने जितना गर्म कर लेना होता है। गुनगुना हल्दी वाला दूध पीने से बन्द नाक और गले की खराश से तुरंत आराम मिलता है और सीने में होने वाली जलन से भी इसका बचाव होता है। हल्दी को हल्की आंच पर जलाकर इसका धुआं लेने से भी जुकाम और खांसी में फायदा होता है।

    * गेहूं की भूसी का उपयोग (Use of Wheat Bran): 
    सर्दी का मौसम आने पर जुकाम के उपचार के लिए हम गेहूं की भूसी का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको करीब करीब 10 ग्राम गेहूं की भूसी के साथ पांच लौंग और साथ में नमक डालकर गरम पानी में उबाल लें और इसका काढ़ा बनाएं। इसका एक कप काढ़ा पीने से आपको तुरंत आराम मिलेगा। सर्दियों में होने वाला जुकाम वैसे हल्का-फुल्का ही होता है और इसके लक्षण हमारे शरीर में एक हफ्ते या इससे कम समय के लिए रहते है। गेंहू की भूसी का उपयोग करने से आपको तकलीफ से निजात भी मिलती है साथ ही में इसका सेवन करना स्वास्थ्य के लिए लाभ-दायक होगा है। 

    * तुलसी का उपयोग (Use of Tulsi): 
    सामान्य रूप से होने वाले जुकाम और खांसी के लिए तुलसी का उपयोग काफी कारगार माना गया है। तुलसी का सेवन करना सर्दी के मौसम में हमारे लिए काफी लाभदायक है। तुलसी में काफी उपचारी गुण होते हैं जो जुकाम और बुखार जैसी बीमारियों से बचाव करने में मदद करते हैं। तुलसी की पत्तियां को चबाने से सर्दी और बुखार में काफी फायदा होता है। सर्दियों में होने वाले खांसी और जुकाम होने पर इसकी पत्तियां (प्रत्येक 5 ग्राम) पीसकर पानी में मिलाएं और काढ़ा बना कर तैयार कर लें। इस काढ़े को पीने से शरीर को काफी आराम मिलता है। तुलसी के पत्तियां से बने इस काढ़े का उपयोग हम 4 दिन तक कर सकते हैं।

    * अदरक का उपयोग (Use of Ginger):
    अदरक का सेवन करना हमारे लिए सर्दी और जुकाम में काफी फायदेमंद साबित होता है। अदरक को शास्त्रो में भी महाऔषधि का दर्जा प्राप्त है। अदरक मे विटामिन, प्रोटीन के गुण भरपूर मात्रा में मौजूद होते है। खांसी या सामान्य रूप से होने वाले कफ की शिकायत है तो आप रात को सोते समय अदरक को दूध में उबालकर पिये। यदि आप चाय मे भी अदरक को उबालकर पिये तो आपको जुकाम में फायदा होता है। अदरक के रस के साथ शहद मिलाकर पीने से भी आराम मिलता है। अदरक का सेवन रोज़ करने से जुकाम खत्म हो जाता है। 

    * काली मिर्च का उपयोग (Use of Black Pepper): 
    सर्दी जुकाम में काली मिर्च का उपयोग करना बहुत ही लाभकारी है। इसका उपयोग आपको बराबर मात्रा में करना है आपको आधा चम्मच काली मिर्च के चूर्ण और एक चम्मच मिश्री को एक कप गरम दूध के साथ दिन में कम से तीन-चार बार सेवन करना होगा। यह करने से आपको जुकाम से तुरंत छुटकारा मिले जाएगा। दूसरा तरीका यह है की तो आप रात को 10 कालीमिर्च को चबाकर उसके साथ एक गिलास गर्म दूध पीने से भी शरीर को आरा‍म मिलता है। यदि आप चाहे तो काली मिर्च को शहद में मिलाकर चाट सकते हैं। इसका उपयोग करने से आपको सर्दियों में होने वाली सर्दी जुकाम और खांसी जैसी बीमारियों से बचा जा सकता है। 


    कोई टिप्पणी नहीं

    Please do not enter any spam link in the comments box.

    Post Top Ad

    ad728

    Post Bottom Ad

    ad728